देवास.खातेगांव:खेत से तेंदुआ निकला जंगल की और……ड्रोन कैमरे से पूरे क्षेत्र को किया सर्च…..नजर नहीं आया तेंदुआ

प्रदीप साहू

खातेगांव l वन परीक्षेत्र के अंतर्गत मचवास रतनपुर मार्ग पर एक मक्के के खेत में तेंदुआ दिखाई देने के बाद क्षेत्र में हलचल मच गई थी l सोमवार को सुबह 9:00 बजे मचवास रतनपुर रोड से होते हुये तेन्दआ मक्के के खेत मे पहुंचा, ग्रामीणों को एक तेंदुआ दिखाई दिया विश्वसनीय सूत्र बता रहे हैं कि तेंदुए को चोट भी है, वह काफी समय तक रोड पर बैठा रहा ,वन परिक्षेत्र अधिकारी मानसिह गोड से चर्चा हुई तो उन्होंने बताया कि सूचना मिली थी कि सुबह 9:00 बजे एक मक्के के खेत में तेंदुआ है,सूचना मिलते ही वन अमला मौके पर पहुंचा । तेंदुए की खबर लगते ही आसपास से बड़ी संख्या में ग्रामीण तेंदुए को देखने मक्के के खेत के आसपास पहुंच गए । बड़ी संख्या में लोगों की आवाजाही के कारण तेंदुआ मक्के के खेत में ही बैठा हुआ है । उधर वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में उज्जैन से एक रेस्क्यू टीम भी मक्के के खेत में पहुंच गई है । मिली जानकारी के अनुसार तेंदुए से किसी प्रकार की कोई जनहानि नहीं हुई है l. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार तेंदुए को किसी वाहन ने टक्कर मार दी थी जिससे वह घायल हो गया l वन परिक्षेत्र अधिकारी मानसिह गोड ने बताया की देर रात्रि तक तेंदुआ को सर्च किया रात्रि में तेंदुआ कहीं दिखाई नहीं दिया ऐसा लग रहा था तेन्दुआ खेत से जंगल की ओर निकल गया । सुबह 6 बजे से वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में एसडीओ वन विभाग एवं अमले ने ड्रोन कैमरे से पूरे क्षेत्र को सर्च किया कहीं भी तेंदुआ दिखाई नहीं दिया l शनिवार विभाग एसडीओ शंकरलाल यादव ने जानकारी देते हुये बताया की 13 /09/21रात्रि 8 बजे पैंथर के रोड़ साइड के मांगी लाल कालू जी के मक्का के खेत मे होने व की गई कार्यवाही की जानकारी मुख्य वनसंरक्षक उज्जैन वन मंडलाधिकारी देवास को दी गई व प्राप्त निर्देश की पालना करते हुए रात को खेत के कोने पर पिंजरा लगा कर उसमें मांस के टुकड़े डाल दिये व थोड़ा मांस खेत मे पिंजरे के आसपास भी डाल दिया ,रात्रि को खेत से लगभग 01 किलोमीटर दूर रहके टीम ने निगरानी की ,13/09/21 को दिन में तेंदुए ने खेत मे घूमते हुऐ 2,3 बार सड़क की ओर उमेंड़ा के जंगल में जाने की कोशिश की पर भारी भीड़ भाड़ व शोरशराबा होने के कारण वो वहां से बाहर नहीं निकल सका,जिस दिशा में वह जाने का प्रयास कर रहा था उधर घना जंगल है और हो सकता उस जंगल मे उसके बच्चे भी हो व तेंदुआ मादा हो सकता है इस कारण से तत्काल रसायनिक विधि से बेहोश करने का निर्णय वरिष्ठ के आगामी आदेश मिलने टाला टाला गया था!दिनांक 14/09/21को सुबह 06 बजे से ड्रोन की सहायता से पूरे खेत की 2,3 बार जांच करवाई तो खेत मे कही भी तेंदुआ नहीं दिखाई दिया,इसके बाद सभी कर्मचारियों को खेत की पूर्व दिशा की सीमा से एक कतार में 1,2 मीटर दूर खड़ाकर के खेत मे पैदल घूमवाकर निरीक्षण,परीक्षण करवाया तेंदुआ खेत मे नहीं मिला,ऐसी संभावना है कि तेंदुआ पास के जंगल मे चला गया है फिर भी वहां आसपास के लोगो को एवम वन कर्मचारियों को सजग ,जागरूक रहने एवं पैंथर के बारे में कोई भी सूचना मिलने पर तत्काल कार्यवाही करने व वरिष्ठ को सूचना देने के निर्देश दिए गए है मौके पर एसडीओ कन्नौद, रेंजर खातेगांव , प स सर्कल हरणगांव मचवास,खातेगांव के कर्मचारी,सुरक्षा श्रमिक, वाहन चालक ,उज्जैन वृत की रेस्क्यू टीम व ड्रोन संचालक संजु खातेगांव ने पूरी कार्यवाही की!


error: Content is protected !!