देवास.खातेगांव:राष्ट्रीय वन शहीद दिवस मनाया

प्रदीप साहू
खातेगांव। वन परिक्षेत्र कार्यालय खातेगांव में राष्ट्रीय वन शहीद दिवस का आयोजन प्रभारी वन परीक्षेत्र अधिकारी मानसिंह गौड़ की मौजूदगी में किया गया। इस अवसर पर वनों तथा वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए अपने जीवन का बलिदान करने वाले शहीद वनकर्मियों की सेवाओं को याद करते हुए दो मिनट का मौन रखकर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई।इस अवसर पर प्रभारी वन परिक्षेत्र अधिकारी मानसिंह गौड ने कहा कि वन कर्मचारी वन अपराधों को रोंकने के लिए पूरी सिद्दत से प्रयास कर रहे हैं। उनकी सजगता के चलते ही वनों तथा वन्य जीवों की सुरक्षा हो रही है। वन अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी सुरक्षा को लेकर काफी जोखिम भरी होती है। फिर भी अपनी ड्यूटी को लेकर वन कर्मियों को पूरी तरह से मुस्तैद रहना है। जिससे वनों तथा वन्य जीवों की सुरक्षा में किसी तरह की कमियां सामने न आएं। परिक्षेत्र में कई दुर्गम स्थल हैं जहां वनों की सुरक्षा करना काफी मुश्किल भरा कार्य है। बावजूद इसके वनकर्मियों द्वारा अपनी मेहनत से वनों के साथ ही वन्य जीवों की सुरक्षा में किसी तरह की कोताही नहीं की जा रही है। सभी वन परिक्षेत्राधिकारी कार्यालय क्षेत्रों में वनकर्मियों द्वारा 24 घंटे की ड्यूटी दी जा रही है। इस अवसर पर वन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने वनों की सुरक्षा में शहीद हुए वन कर्मचारियों को याद किया। साथ ही यह भी दृढ़ निश्चय किया कि वह वनों एवं वन्य जीवों की सुरक्षा में किसी तरह की कमी नहीं आने देंगे। वन कर्मचारी अपनी जान की परवाह किए बिना रात में भी वन क्षेत्रों में गश्त कर सुरक्षा व्यवस्था केा पूरी तरह से चाक चौबंद किए हुए हैं। वन कर्मचारियों की बदौलत ही वनों के साथ ही वन्य जीवों की सुरक्षा व्यवस्था काफी बेहतर है। जहां से भी शिकायतें मिलती हैं वन कर्मचारी मौके पर पहुंचकर उनका निराकरण करते हैं साथ ही आवश्यकता होने पर अपने अधिकारियों की मदद से आगे की कार्रवाई सुनिश्चित करते हैं। इस अवसर पर प्रभारी वन परिक्षेत्राधिकारी मान सिंह गौड़ समेत परी क्षेत्र के समस्त परिक्षेत्र सहायक शुगर सिंह राजपूत विक्रमपुर, महेश चंद्र वर्मा चंदपुरा -मचवास- मनोरा,गोविंद व्यास खातेगांव, शेरू शाह खा लिली, तेजसिंह पवार हरणगांव , हरिओम पाराशर , वनरक्षक गौरान तिवारी,वीरेंद्र लाखोरे,जोगेंद्र सिंह राणा, दिवाकर यादव,राहुल देव,सत्यनारायण निनामा,देवीसिंह भार्गव,सुकलाल मंडलोई, केके मिश्रा, अमन सक्सैना,राशिद खान,कमल सिंह राणा, मालती शर्मा, कंप्यूटर ऑपरेटर अरुण कर्पे , सुरक्षा श्रमिक दिनेश यादव ,नारायण सिंह राजपूत आदि अनेकवन कर्मी वर्दी में भी उपस्थित रहे। जिनके द्वारा भी वनों की सुरक्षा को लेकर किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी गई।


error: Content is protected !!