देवास.खातेगांव:राष्ट्रीय लोक अदालत न्यायालय परिसर सम्पन्न हुई

प्रदीप साहू

खातेगांव l राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के आदेशानुसार तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण , देवा योगेशचन्द्र के मार्गदर्शन में नेशनल लोक सम्पन्न हुई । सर्वप्रथम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र के समक्ष विधिक सेवा समिति , खातेगांव की अध्यक्ष एवं प्रथम एवं सत्र न्यायाधीश , सरिता वाधवानी तथा अन्य न्यायाधीशगण जतारिया , संचिता एवं आयुषी शर्मा , खातेगांव अधिवक्ता संघ पादाधिकारी तथा एवं कनिष्ठ अधिवक्तागण शासकीय अधिवक्ता , म.प्र.वि.वितरण कंपनी अभियंता , विभिन्न के अधिकारी / एवं न्यायालयीन कर्मचारीगण ने कोविड -19 के नियमों का पालन हुये माल्यार्पण प्रज्वलित कर नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ किया । कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए तहसील विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्ष सुश्री बाधवानी कहा कि कोरोना कार्यकाल में सभी लोगो को सोशल डिस्टेंसिग का विशेष ध्यान रखना चाहिये एवं सार्वजनिक स्थानो पर मास्क आवष्यक रूप से पहनना चाहिये सभी लोग कोरोना जैसी महामारी से सके , उन्होंने बताया कि वर्ष 2021 की प्रथम नेशनल लोक अदालत संपूर्ण भारत वर्ष में आज के दिन आफलाईन – ऑनलाईन लगाई गई है यदि पक्षकारगण लोक अदालत में अपने प्रकरणों का आपसी सहमति से निराकरण करवाते तो इससे उनके बीच में आपसी प्रेम और सोहार्द की बढोत्तरी होती है , जिससे आपसी ओर दुश्मनी कम होती है और लोग बगैर किसी लडाई – झगडे के प्रेम से रह सकते है नेशनल लोक अदालत में खातेगांव तहसील भारतीय स्टेट बैंक , बैंक आफ इण्डिया , यूनियन बैंक , कैनरा बैंक , बैंक ऑफ बड़ोदा प्रदेश ग्रामीण बैंक , एच.डी.एफसी बैंक सहित नगर पालिका परिषद खातेगांव एवं नेमावर मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कम्पनी के न्यायालय परिसर में वे ही पक्षकारगण आये जिन्होंने अपने प्रकरण लोक अदालत के माध्यम से निराकृत करवाने की स्वीकृति दी और तत्पश्चात न्यायालय में प्रकरण राजीनामा कर निराकृत करवाये , इस दौरान पक्षकारगण द्वारा सोशल डिस्टेसिग का ध्यान रखा गया । पक्षकारगणों ने नेशनल लोक अदालत द्वारा प्रदत्त सुविधा एवं राहत का लाभ लिया । न्यायालय में भी काफी प्रकरणो का निपटारा पक्षकारगण को समझाईश देकर किया गया , उन्हें खण्डपीठ के पीठासीन अधिकारियों , सदस्यो , अधिवक्तागणों , शासकीय अधिवक्तागण , नगर पालिका के सी.एम.ओ. , विद्युत विभाग के अभियंता विभिन्न बैंको के अधिकारिगण द्वारा नेशनल लोक अदालत में विभिन्न प्रकरणों में दी जानी वाली छूट एवम् लोक अदालत के महत्व एवम् लाभ बताते हुये समझौते कराये गये । उनके द्वारा समझाये जाने प्रभाव से सिविल न्यायालय खातेगाव मे नगर पलिका के शिविरो एवम् विद्युत विभाग के शिविरो मे पक्षकारो द्वारा राहत एवं छुट का लाभ लेते हुये राशि जमा करायी गयी । पक्षकारों द्वारा बैंक के प्रीलिटिगेशन प्रकरणों कुल 30,000 / – रूपये की राशि विद्युत के प्रीलिटिगेशन प्रकरणों में कुल 80,000 / – रूपये की राशि एवम् नगर पलिका के शिविर मे जलकर एवम् सम्पत्ति कर की कुल 1,06,690 / – रूपये की राशि जमा की । सिविल न्यायालय खातेगांव के विभिन्न न्यायालयों में लंबित प्रकरणों में से कुल 76 प्रकरणों का नेशनल लोक अदालत में समझौता के माध्यम से निराकरण किया गया , जिसमें 186 व्यक्ति लाभान्वित तथा 1767302 / -रूपये राशि समझौते हुए । एमपीईबी के प्रीलिटीकेशन के कुल 04 प्रकरणों में कुल 80000 / -रूपये की वसूली की गई एवं नगर पालिका के सम्पत्ति कर की 42898 / -रूपये की राशि की गई । इसमें प्रथम जिला न्यायाधीश सरिता वाधवानी के न्यायालय मे कुल 36 प्रकरणों का निराकरण किया गया जिसमे विद्युत के 27 प्रकरणों का निराकरण करते हुये 475280 / -रूपये की राशि जमा करायी गयी , तथा मोटरयान अधिनियम के 6 प्रकरणों का निराकरण हुआ , जिसमे कुल 24 पक्षकारो का 770000./-समझौता राशि दिये जाने के आदेश न्यायालय द्वारा किये गये एवं सिविल हिन्दू विवाह अधिनियम का 1 प्रकरण का निराकरण किया गया । एवं 02 आपराधीक अपीलों का निराकरण किया गया है प्रथम व्यववहार न्यायाधीश वर्ग -1 सरिता जतारिया के न्यायालय द्वारा 03 आपराधीक प्रकरण , 125 द.प्र.सं. के 10 प्रकरण एवं 01 सिविल प्रकरण , का निराकरण किया गया . द्वितीय व्यवहार न्यायाधीश वर्ग -1 संचिता भदकारिया खातेगांव के न्यायालय में कुल 06 आपराधिक प्रकरणों का निराकरण किया गया तथा व्यवहार न्यायाधीश वर्ग -2 आयुषि शर्मा के न्यायालय द्वारा 04 आपराधिक प्रकरण , 10 एनआई एक्ट प्रकरण एवं 1 सिविल प्रकरण तथा 3 निष्पादन प्रकरणों का निराकरण किया गया । न्यायालय परिसर में पक्षकारों को समझाईश देने हेतु अधिवक्ता संघ अध्यक्ष साबलसिंह अधिवक्तागण डी.एल. खदाव , रामौतार त्रिवेदी , जी.जी. तिवारी , सी.एल. वर्मा , सी.एस. तिवारी नीलेश जगथाप , मनीष अग्रवाल , जयसिंह कुशवाह , नवीन जगथाप , चिन्मय तिवारी आदि एवं शासकीय अधिवक्ता राजकुमार यादव उपस्थित थे ।


error: Content is protected !!