आष्टा:आष्टा युवा संगठन फिर बना मसीहा

मोहित सोनी

आष्टा। कोरोना काल मे नगर के आष्टा युवा संगठन ने जिस तरह से गरीबो की बिना फ़ोटो लिए ओर नाम के मदद की उसकी नगर में चहुओर प्रशंसा हुई। आज फिर आष्टा युवा संगठन ने मानवता की मिशाल पेश की। सिहोर जिले के आष्टा में आज सुबह संगठन को जानकारी मिली कि महाराष्ट्र के रहने वाले 14 से 15 लोग आष्टा सिहोर रोड़ शनि मंदिर के आगे किलेरामा तरफ रोड किनारे बैठे है।

ना इनके पास खाने की व्यवस्था है ना ही पैसे है घर जाने के लिए। इनको एक ठेकेदार लेकर आया था जो कि यही छोड़ कर भाग गया है। जब इसकी जानकारी सगठन को मिली तो संगठन के संचालक आनंद गोस्वामी तत्काल वह पहुचे ओर मजदूरों से मिले उनकी समस्या सुनी और संगठन के सहयोग से मजदूरो को भोजन के लिए राशन दिया गया ओर भोजन बनाए जाने की व्यवस्था वही मंदिर के पास पेड़ो की छाव में की जह पर सभी मजदूरों ने भोजन बना बनाया। संगठन प्रमुख आनंद गोस्वामी ने बताया कि जैसे ही उन्हें जानकारी मिली मजदूरों की स्तिथि की तो उन्होंने उनकी राशन की व्यवस्था की साथ ही आर्थिक मदद कर सभी मजदूरों को उनके घर महाराष्ट्र के लिए अलग अलग साधनों के द्वारा रवाना किया।


error: Content is protected !!