सफर ए हज पे कोरोना का साया,सऊदी हुक़ूमत ने लगाई 20 देशो पर पाबंदी,भारत भी शामिल


भोपाल:मुस्लिम समाज के लिए विचलित करने वाली खबर है कि इस साल भी हज यात्रा होना मुश्किल होता दिखाई दे रहा है। बुधवार को सऊदी अरब सरकार ने जारी किए प्रतिबंध के दौरान दुनिया के 20 देशों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी है। इन देशों में भारत भी शामिल किया गया है। कोविड हालात के चलते लगाए गए इस प्रतिबंध की प्रारंभिक अवधि फिलहाल 17 मई तक तय की गई है, लेकिन साथ ही इस बात को भी रेखांकित किया गया है इस तारीख के बाद हालात पर पुन: समीक्षा की जाएगी।
सऊदी अरब सरकार ने ये जानकारी अपने अधिकृत ट्विटर अकाउंट के जरिए देते हुए कहा है कि प्रतिबंधित देशों के यात्री किसी अन्य देश से होते हुए भी सऊदी अरब नहीं पहुंच पाएंगे। सऊदी अरब ने जिन देशों के प्रवेश पर पाबंदी लगाई है, उनमें भारत के अलावा यूनाइटेड अरब अमीरात, जर्मनी, यूनाइटेड स्टेट्स, इंडोनेशिया, जापान, इटली, पाकिस्तान, ब्राजील, पुर्तगाल, साउथ अफ्रीका, स्वीडन, फ्रांस, लेबनान आदि देश शामिल हैं।

हज पर भी रहेगा संकट


कोविड हालात के चलते पिछले वर्ष हजयात्रा में सीमित संख्या में लोग शामिल हो पाए थे। इस दौरान भारत के यात्रियों को प्रवेश की अनुमति नहीं मिल पाई थी। इस साल जून माह में होने वाली हजयात्रा के लिए देश भर से करीब 65 हजार लोगों ने आवेदन किया है। इनमें प्रदेश के करीब ढाई हजार आवेदन भी शामिल हैं। आमतौर पर इस अवधि तक शुरू हो जाने वाली तैयारियों का सिलसिला फिलहाल सऊदी अरब सरकार से गाइडलाइन नहीं मिल पाने के कारण रुका हुआ है।

उमराह के लिए लगता है बड़ा मजमा

वैसे तो सऊदी अरब में पूरा साल लोग उमराह (सऊदी अरब की धार्मिक यात्रा) पर जाते हैं। 14 दिन से एक माह की अवधि के लिए लोग सबसे ज्यादा रमजान माह में ही सऊदी अरब पहुंचते हैं। ऐसे हालात में बुधवार को लगाई गई पाबंदी के कारण लोग उमराह के लिए नहीं जा पाएंगे। प्रतिबंध अवधि 17 मई होने तक रमजान माह खत्म हो जाएगा।


error: Content is protected !!