सउदी सरकार ने लौटाई टिकट और वीज़ा की रकम

भोपाल:राजधानी सहित प्रदेश और देशभर से सफर-ए-उमराह पर जाने वाले अकीदतमंदों के लिए फिलहाल मायूसी की खबर है कि सउदी सरकार ने उनके सफर पर पाबंदी जारी रखी है। लेकिन इस बीच अच्छी खबर यह है कि उन्होंने टिकट, वीजा आदि के लिए जो रकम एजेंटों के मार्फत सउदी सरकार के खजाने में जमा कराई थी, वह रकम वापसी के ऐलान कर दिए गए हैं। इसके मुताबिक मार्च और अप्रैल माह में उमराह पर जाने वाले अकीदतमंदों को उनकी जमा की हुई रकम वापस उनके बैंक खातों में ट्रांसफर करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस के कहर ने दुनियाभर के माथे पर शिकन पैदा कर रखी है। इस गंभीर और संक्रमक बीमारी को लेकर दुनियाभर में फिक्र की जा रही है और एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए सउदी अरब सरकार ने इस्मामी माह शाबान और रमजान में दुनियाभर से उमराह के लिए पहुंचने वाले बड़ी तादाद में अकीदतमंदों की सउदी पर आमद पर भी पाबंदी लगा दी है। पाबंदी लगाने का मकसद देश में इस गंभीर संक्रमण वाले वायरस की घुसपैंठ को रोकना था, साथ ही दुनियाभर के लोगों को उनके सफर के दौरान होने वाली किसी परेशानी से बचाना भी था। सउदी अरब सरकार द्वारा आयद की गई इस पाबंदी के बाद दुनियाभर के अकीदतमंदों में मायूसी का आलम छाया हुआ है। साथ ही ऐसे लोग, जिन्होंने इस सफर के लिए अपनी तैयारियों को पूरा कर लिया था, टिकट, वीजा, रिहाईश आदि के इंतजाम कर लिए थे, को भी अपनी रकम जाया जाने का डर सताने लगा था। सउदी अरब सरकार ने इस मामले में ऐलान कर अकीदतमंदों की रकम वापस लौटाने के लिए कह दिया है।

बिना कटौती मिलेगी रकम

सउदी अरब सरकार ने पूर्व में मार्च के आखिरी सप्ताह तक उमराह मुसाफिरों पर पाबंदी का ऐलान किया था। इसके बाद सउदी एयर लाइंस ने 15 अपै्रल तक की सभी एयर टिकट बुकिंग निरस्त कर दी है। इसके साथ उन्होंने ऐसे सभी मुसाफिरों, जिन्होंने इन तारीखों में टिकट बुकिंग कराए थे, को टिकट की पूरी रकम बिना किसी कटौती के वापस करने का ऐलान कर दिया है।

हालात ठीक न हुए तो हज पर भी पड़ेगा असर

सूत्रों का कहना है कि कोरोना वायरस को लेकर बने हालात को देखते हुए दुनियाभर में एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। लेकिन इस पर अगर समय रहते मुनासिब काबू नहीं पाया गया और हालात ऐसे ही बने रहे तो चंद माह शुरू होने वाले सफर-ए-हज पर भी इसका असर दिखाई दे सकता है। सेंट्रल हज कमेटी के सीइओ डॉ. मकसूद अहमद खान का कहना है कि उम्मीद है कि हज सफर शुरू होने तक हालात सामान्य हो जाएंगे और हाजियों को किसी तरह की पाबंदी या रोक का सामना नहीं करना पड़ेगा। बावजूद इसके हज सफर पर जाने वाले सभी मुसाफिरों को अतिरिक्त मेडिकल जांच और एहतियाती दवाओं और ताकीद के साथ रवाना किया जाएगा। प्रदेश हज कमेटी के वरिष्ठ सदस्य आमिर अकील का कहना है कि कोरोना वायरस को लेकर फिलहाल ताजा हालात हैं, उम्मीद की जाना चाहिए कि इसपर जल्दी काबू पा लिया जाए और हज मुसाफिरों को किसी तरह की दिक्कत न आए।


error: Content is protected !!